तुहामेटा पंचायत सचिव सरपंच को बदनाम करने की साज़िश

तुहामेटा पंचायत सचिव सरपंच को बदनाम करने की साज़िश

मितानिन सम्मान समारोह तुहामेटा पंचायत की सच्ची घटना


ग्राम पंचायत तुहामेटा में मितानिन सम्मान समारोह कार्यक्रम 23/11/2022 के दिन घटना की आरोप बेबुनियाद है उस दिन ग्राम पंचायत तुहामेटा कार्यालय में सचिव सरपंच पंच और मितानिन सभी मितानिन सम्मान समारोह कार्यक्रम कर थे तभी पंचायत भवन के बगल में स्थित राशन दुकान पर सेल्स मेन रीपुदमन नेगी राशन सामग्री वितरण कर रहा था उसी वक्त शराब के नशे में धुत समारु कमार ग्राम तुहामेटा द्वारा हाथ में लाठी लिए सेल्स मेन रीपुदमन नेगी के साथ बेवजह विवाद किया तभी सेल्समैन रिपुदमन नेगी अपनी फिंगर मशीन को लेकर पंचायत भवन आकर घुस गया पिछे-पिछे शराबी समारु कमार लाठी लेकर मारने पीटने की धमकी देते हुए पंचायत भवन में आ गया, पंचायत में सचिव निर्मल कुमार देशमुख को देखकर नशे में धुत समारु कमार द्वारा तीर कमान से जान से मारने की धमकी देने लगा बीच बचाव में सुबेसिंह सोरी पंच ने एक बार समारु कमार को वाद विवाद न करने की समझाइश देकर कार्यालय से बाहर निकाला परंतु समारु कमार दोबारा पंचायत अंदर जाकर सचिव निर्मल कुमार देशमुख को पीटने का कोशिश किया  तभी नशे में धुत समारु कमार का बैलेंस बिगड़ा और निचे मेटल की चेयर पर जा गिरा जिससे समारु कमार की सर में चोट लगी है। सचिव निर्मल कुमार देशमुख निर्दोष है सचिव द्वारा किसी भी प्रकार की मारपीट नहीं की गई है।

सचिव निर्मल कुमार देशमुख पर बेबुनियाद आरोप के खिलाफ थाना पहुंचे तुहामेटा के सैकड़ों ग्रामीण


तुहामेटा समारु कमार


ग्राम पंचायत तुहामेटा कार्यालय में आयोजित मितानिन सम्मान समारोह कार्यक्रम में सचिव निर्मल कुमार देशमुख पर मनगढ़ंत आरोप लगाये जाने पर मितानिन सम्मान समारोह कार्यक्रम में घटना के समय उपस्थित ग्रामीणों ने मैनपुर थाना आकर घटना की सच्चाई के बारे में जानकारी बयान के रूप में दी। क्योंकि जिस तरह की सचिव पर अनर्गल आरोप लगाये जा रहें हैं वह जमीन आसमान का अंतर है जो कि इस तरह की गलत आरोप कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को बर्दाश्त नहीं हुआ और थाने आकर सच्चाई की जानकारी दी।

इस मौके पर मानसिंह नागेश, श्यामलाल नागेश, सुबेसिंह सोरी, मचल सोरी, मंगलसिंह सोरी, दुकालू मरकाम, नाथुराम मरकाम, विजय मरकाम, उदय मरकाम, रामसाय मरकाम, केशवराम मरकाम, खोलुराम मरकाम पंच, श्यामबाई ओटी मितानिन, योगेश्वरी यादव मितानिन, राजबाई मरकाम मितानिन, लिलाबाई मरकाम, बसंतीन नागेश, परमीरा बाई , भानबाई यादव, जलसिंह यादव,सुकालू मरकाम, मनोहर मरकाम, कौसिंग, हितेश्वर नागेश पंच, जयकिशन यादव, लोकेश, सरपंच अंजुलता नागेश उपस्थित रहे।

सरपंच का कथन


सरपंच अंजुलता नागेश ने कहा कि गांव के एक दो अवसरवादी लोग सचिव निर्मल कुमार देशमुख की जनहितकारी कुशल कार्यों से चिढ़ हो चुकी है क्योंकि ऐसे लोग व्यक्तिगत स्वार्थ सिद्ध करने के लिए सचिव को हटाने के लिए शुरुआत से ही लगे हुए हैं इसके पूर्व भी इन्हीं लोगों के कारन एक पंच वर्षीय कार्यकाल में दो बार सचिव हटाया जा चुका है सचिव हटाने के लिए मुझ पर दबाव बनाया जाता रहा है जब उन लोगों की व्यक्तिगत स्वार्थ सिद्ध नहीं होता तो फिर सचिव हटाने की बात करने लगते हैं और नागरिकों को गुमराह कर भड़काया जाता है गांव के भोले-भाले लोगों को बेवकुफ बनाकर सचिव के खिलाफ भड़का कर आरोप लगाते रहे हैं। मेरे धैर्य की सीमा अब टुट चुकी है ऐसे लोगों पर मैं शासन प्रशासन से कार्यवाही की मांग करती हूं। अच्छे कर्तव्य के सचिव को तुहामेटा पंचायत से हटाकर व्यक्तिगत स्वार्थ सिद्ध किया जा सके ऐसे सचिव की मांग हेतु दबाव बनाया जाता है ऐसा दो बार हो चुकी है। मैं स्वयं घटना के समय उपस्थित थी जिस तरह के आरोप सचिव निर्मल कुमार देशमुख पर लगाये जा रहे हैं वह बेबुनियाद है सचिव के द्वारा किसी भी तरह की समारु के साथ मारपीट नहीं किया है तथा समारु राम के अलावा सचिव निर्मल कुमार देशमुख पर आरोप लगाने वाले घटना के समय उपस्थित नहीं थे।

खोलुराम कोमर्रा पंच का कथन


समारु कमार तुहामेटा द्वारा शराब पीकर शासकीय कार्यालय ग्राम पंचायत तुहामेटा में मितानिन सम्मान समारोह कार्यक्रम में व्यवधान उत्पन्न किया है मैं इसका कड़ी निन्दा करता हूं। तथा मैं किसी भी शराबी नशेड़ी व्यक्ति का समर्थन नहीं करता क्योंकि इससे नशाखोरी को बढ़ावा मिलता है नशापान करना समाज के लिए घातक है। सचिव निर्मल कुमार देशमुख निर्दोष हैं उनके द्वारा किसी भी प्रकार की मारपीट नहीं किया गया है।

फिलहाल अभी मामले की जांच चल रही है।