CG NEWS छत्तीसगढ़ में 24 को 90 फीसदी सरकारी काम-काज बंद रहेंगे। आवश्यक सेवा अनुरक्षक कानून ESMA लगने की संभावना।

CG NEWS छत्तीसगढ़ में 24 को 90 फीसदी सरकारी काम-काज बंद रहेंगे। आवश्यक सेवा अनुरक्षक कानून ESMA लगने की संभावना।

CG छत्तीसगढ़। प्रदेश में कर्मचारी महासंघ की हड़ताल प्रारंभ होने से कल 24/08/2022 को छत्तीसगढ़ राज्य में 90 फ़ीसदी सरकारी कामकाज ढप रहेंगे। जिससे प्रदेश की आम जनता छोटे कारोबारियों एवं किसानों को शासकीय कामकाज को लेकर बड़ी दिक्कतें आ सकती है।


छत्तीसगढ़ कर्मचारी संघ की हड़ताल एवं सातवें वेतनमान की मांग से सीएम भूपेश बघेल की मुसीबतें बढ़ सकती हैं कर्मचारी संघ की हड़ताल से राज्य में आपातकालीन स्थिति बन सकती है सरकारी कामकाज ठप होने से लोगों को काफी दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है।

छत्तीसगढ़ में मैं लगातार हड़ताल का दौर चल रही है कभी सरपंच संघ की हड़ताल तो कभी कर्मचारी संघ की हड़ताल तो कभी पंचायत कर्मियों की हड़ताल हड़ताल का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा है छत्तीसगढ़ का छत्तीसगढ़ सरकार को चौतरफा घेरने की तैयारी प्रदेश की पूरी कर्मचारी संघ कर चुकी है।

कर्मचारियों की हड़ताल में जाने से छत्तीसगढ़ के किसानों को काफी नुकसान हो सकता है जिससे आने वाले दिनों में किसान संघ भी सरकार के खिलाफ आवाज उठा सकती है।

आवश्यक सेवा अनुरक्षक कानून ESMA लगने की संभावना।

छत्तीसगढ़ में कई कानून के ज्ञाता आवश्यक सेवा अनुरक्षक कानून लगने की अंदेशा जता रहे हैं ताकि छत्तीसगढ़ प्रदेश में किसी भी प्रकार की आम जनता एवं गरीब मजदूरों को नुकसान ना हो इसलिए esma आवश्यक सेवा अनुरक्षक कानून लगने की अंदेशा जताया जा रहा है।

जब भी कोई प्रदेश में हड़ताल के कारण आपातकालीन स्थिति निर्मित होती है तो राज्य सरकार ESMA आवश्यक सेवा अनुरक्षक कानून लगाने के लिए स्वतंत्र है। ताकि कोई भी कर्मचारी हड़ताल ना कर सके और प्रदेश की सरकारी दफ्तरों की कामकाज यथावत बने रहे।

ESMA ACT क्या है ?

Esma एक केंद्रीय कानून है इसे सन 1968 में लागू किया गया था। इस कानून का उल्लंघन करना दंडनीय अपराध है। और आवश्यक सेवा अनुरक्षक कानून को 6 माह के लिए लागू की जाती है।

Esma का फुल फॉर्म essential services management act होता है जिसे आवश्यक सेवा अनुरक्षक कानून कहां जाता है इस एक्ट को लागू करने के लिए भारत में राज्य सरकारें स्वतंत्र है जब भी हड़ताल की वजह से कोई विपत्ति ताल निर्मित होती है तो राज्य सरकारें आवश्यक सेवा अनुरक्षक कानून लागू कर सकती हैं।

इस कानून के तहत कोई भी सरकारी कर्मचारी अपने ड्यूटी को छोड़कर हड़ताल में नहीं जा सकता अगर आवश्यक सेवा अनुरक्षक कानून की उलंघन कोई भी कर्मचारी करता है तो उन्हें छह माह की सजा अथवा ₹250 की आर्थिक दंड का प्रावधान है। अथवा सजा एवं आर्थिक दंड दोनों हो सकती है।

आखिर ESMA ACT क्यों लगाई जाती है?

आवश्यक सेवा अनुरक्षक कानून देश में अथवा राज्य में सरकारें इसलिए लगातीं है क्योंकि हड़ताल के वजह से लोगों की आवश्यक सेवाओं पर बुरा असर न पड़े।

Esma वह कानून है जो आवश्यक अनिवार्य सेवाओं को बनाए रखने के लिए लागू की जाती है। इसके तहत सरकार जिस सेवा पर Esma कानून लगाती है उससे संबंधित कर्मचारी हड़ताल पर नहीं जा सकते हैं।