cherchera kab hai छेरछेरा त्योहार छत्तीसगढ़

cherchera kab hai छेरछेरा त्योहार छत्तीसगढ़

छेरछेरा (cherchera) त्योहार छत्तीसगढ़ में बड़े ही हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जाने वाला त्योहार है. छेरछेरा तिहार (cherchera festival) छत्तीसगढ़ में दान करने का पर्व माना जाता है, इस दिन छत्तीसगढ़ में युवक युवती एवं बच्चे सभी छेरछेरा cher chera मागने घर घर जाते हैं।

छत्तीसगढ़ में छेरछेरा (cherchera) त्यौहार का अलग ही महत्व है सदियों से मनाया जाने वाला यह पारम्परिक लोक पर्व अलौकिक है क्योंकि इस दिन रुपये पैसे नहीं बल्कि अन्न का दान करते हैं, इस दिन कोई ब्राह्मण या पण्डित नहीं बल्कि सभी लोग छेरछेरा के रुप में अन्न दान मागते हैं।

cher chera kab hai छेरछेरा त्यौहार कब है 2022

इस वर्ष cherchera tyohar 17 January 2022 दिन सोमवार को मनाया जाएगा क्योंकि 17 जनवरी दिन सोमवार को पौष महिने की पूर्णिमा तिथि यानि कि पौष शुक्ल पक्ष 15 तिथि है।

छेरछेरा त्यौहार क्यों मनाया जाता है ?

cherchera tyohar मनाने का कोई बड़ा कारण नहीं छेरछेरा तिहार मुख्यतः छत्तीसगढ़ में मनाया जाने वाला पर्व है क्योंकि धान का कटोरा कहलाने वाला भारत का एक मात्र प्रदेश छत्तीसगढ़ एक कृषि प्रधान प्रदेश है यहाँ पर ज्यादातर लोग किसान वर्ग के लोग निवास करते हैं कृषि ही जीवकोपार्जन का मुख्य साधन है यही वजह है कि कृषि आधारित जीवकोपार्जन एवं जीवन शैली आस्था और विस्वास ही अन्न दान करने का पर्व cher chera मनाने की प्रेरणा देती है अपने धन की पवित्रता हेतु छेरछेरा त्योहार मनाया जाता है लोगों की अवधारणा है कि दान करने से धन की शुद्धि होती है।

छेरछेरा पर्व कब मनाया जाता है ? 

छेरछेरा पून्नी अर्थात पौष माह की शुक्ल पक्ष 15 वीं तिथि को पौष पून्नी अर्थात छेरछेरा त्योहार कहा जाता है, पौष माह यानि कि जनवरी माह तक अन्न का भंडारण कर लिया जाता है अतः पौष माह की पूर्णिमा को cher chera tihar छेरछेरा त्यौहार मनाया जाता है।

छेरछेरा 2022 छेरछेरा गाना




Original links 👇

https://youtu.be/g0p3N9oZAl4