तुहामेटा में मितानिनों को सम्मानित कर मनाया गया मितानिन दिवस कार्यक्रम।mitanin diwas tuhameta

 

live chhattisgarh news, mitanin divas tuhameta

मैनपुर। आज मैनपुर ब्लॉक की सभी ग्राम पंचायतों में मितानिनो के सम्मान एवं प्रोत्साहन हेतु मितानिन दिवस का आयोजन किया गया। इसी बीच ग्रामपंचायत तुहामेटा में सरपंच अंजू लता नागेश उपसरपंच श्रीमती धरमिन बाई सोरी सचिव श्री देवराम नागेश एवं समस्त पंच गन उपस्थित होकर मितानिनों के सम्मान में श्रीफल एवं साड़ी भेंट कर मितानिन दिवस मनाया गया।

उपस्थित मितानिनों ने अपनी राय व्यक्त करते हुए कहे की गांव में यदि कोई बीमार सर्दी-खांसी दस्त मलेरिया आदि से पीड़ित होता है तो सबसे पहले मितानिन ही जांच कर उन्हें प्राथमिक उपचार हेतु दवाई प्रदान करती है और उन्हें सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र तक जाना नहीं पड़ती तथा यदि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जाने की आवश्यकता होती भी है तो उन्हें मितानिन के द्वारा भरपूर सहयोग की जाती है।

यदि किसी को उल्टी दस्त होती है तो ओ. आर. एस. घोल के अभाव में शुद्ध पानी में एक चुटकी नमक डालकर घोल तैयार की जाती है उसे समय-समय पर पीने की सलाह दी जाती है जिससे डिहाइड्रेशन की समस्या ना हो।

live chhattisgarh news, mitanin divas

सरपंच अंजू लता नागेश एवं उपसरपंच श्रीमती धरमिन बाई सोरी ने सभी मितानीनो को श्रीफल (नारियल) वस्त्र भेंट कर अपने उद्बोधन में कहा की गांव की मितानिन पहला डॉक्टर होता है जो सर्वप्रथम मरीज की तकलीफ को दवाई देकर दूर करता है एवं गांव के लोग भी कुछ स्वास्थ्य संबंधी तकलीफ होने पर सर्वप्रथम मितानिन के पास ही जाते हैं एवं स्वास्थ्य लाभ प्राप्त करते हैं निश्चित ही स्वास्थ्य के क्षेत्र में मितानिनों की भूमिका अभूतपूर्व है, मितानिनो के सहयोग से ही देश की मृत्यु दर में कमी आई है हमारे गांव के मितानिन निश्चित ही सम्मान के पात्र हैं।

ग्राम पंचायत तुहामेटा सचिव श्री देव राम नागेश द्वारा मितानिनों सुझाव देते हुए कहा कि सभी मितानिन गांव की स्वास्थ्य के प्रति निरंतर जागरुक करते रहें समय-समय पर लोगों को दवाइयां एवं स्वास्थ्य संबंधित जानकारी देते रहें ताकि किसी भी प्रकार की बीमारी अथवा संक्रमण से सावधानी बरती जा सके।

मितानिन दिवस (mitanin divas) कार्यक्रम में पंचायत के सभी पदाधिकारी गण खोलूराम कोमर्रा पंच, सुबे सिंह सोरी पंच, सुंदरलाल नेताम पंच, लाजवंतीन बाई नेताम पंच, फुलकुवंर बाई मरकाम पंच, हितेश्वर नागेश पंच, राजंतीन बाई सोरी पंच, एवं राज बाई मरकाम मितानिन, योगेश्वरी यादव मितानिन, श्याम बाई ओंटी मितानिन, रामली बाई सोरी मितानिन, कैमनीबाई नेताम मितानिन एवं सभी मितानिन उपस्थित थे।